Best Web Blogs    English News

facebook connectrss-feed

Non Veg and Veg Jokes

Non veg jokes, masti jokes, funny chutkule and veg jokes in hindi

49 Posts

4 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.

सुहागरात पर लजाती-सकुचाती पत्नी…NON VEG CHUTKULE IN HINDI

पोस्टेड ओन: 29 Nov, 2012 Uncategorized में

Non veg jokes in Hindi

सुहागरात के लिए कमरे में घुसने से पहले दोस्तों ने बंता सिंह के कान भरने शुरू कर दिए…
“यार, अगर बीवी को पहली ही रात में उसकी औकात न दिखाई जाए, तो सारी उम्र सिर पर चढ़कर नाचती हैं… बीवी के साथ सोना तेरा हक है, और उसे पहली ही रात यह समझा देना, वरना अपने शरीर को ही हथियार बनाकर वह सारी ज़िन्दगी तेरी भावनाओं के साथ खिलवाड़ करती रहेगी…”

बंता यह सब सुनकर घबरा गया, और दोस्तों से पूछा, “लेकिन फिर मुझे करना क्या चाहिए…?”

दोस्त ने तपाक से उपाय बताया, “बीवी को पहली ही रात एहसास दिला दे कि तुझे उसके शरीर का लालच नहीं है, और वह तेरे साथ सोकर कोई एहसान नहीं कर रही है…”

बंता ने फिर सवाल किया, “लेकिन यह एहसास दिलाने के लिए क्या करूं…?”
दोस्त ने कहा, “रात को जीभर के मज़ा कर बीवी के साथ, लेकिन सुबह कमरे से बाहर आने से पहले 1000 रुपये का नोट उसके हाथ में थमाना, और कहना कि तू यह सब किसी के साथ भी मुफ्त में नहीं करता… इससे तेरी बीवी को एहसास हो जाएगा कि तुझे कोई परवाह नहीं है कि वह तेरे साथ सोती है या नहीं, क्योंकि तेरे पास घर के बाहर भी जुगाड़ हैं…”

बंता दोस्त का तर्क समझ गया…

उसने रात भर दोस्त का कहना मानकर मज़े किए, और सुबह कमरे से बाहर आते वक्त सलाह के मुताबिक 1000 रुपये का नोट बीवी के हाथ में थमाकर बोला, “तेरे साथ मज़ा आया, मेरी रानी… लेकिन मैं यह सब मुफ्त नहीं करता, इसलिए यह पकड़ अपने हक के पैसे…”

पत्नी ने भी तपाक से नोट पकड़ लिया, और अपने पर्स से 500 रुपये का नोट निकालकर बंता सिंह को पकड़ाकर बोली, “मुझे क्या चोर समझा है, यह लो पांच सौ रुपये… किसी से भी हक से ज़्यादा नहीं लेती मैं…”


**********************





Tags: Non Veg Jokes in hindi   Hindi Non Veg Jokes   नॉन वेज जोक्स   मजेदार नॉन वेज जोक्स   JIJA SALI जोक्स   JIJA SALI CHUTKULE IN HINDI  

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (4 votes, average: 3.75 out of 5)
Loading ... Loading ...

2 प्रतिक्रिया

  • Share this pageFacebook0Google+0Twitter0LinkedIn0
  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Santosh Kumar के द्वारा
November 29, 2012

श्रीमान जी ,….आपके ब्लॉग से बहुत निराशा है ,…प्रबुद्ध मंच पर घटिया चलताऊ चुटकुलों का कदापि स्थान नही है ,..फेसबुक आदि बहुत जगह आपके प्रशंसक मिल जायेंगे ….आपसे निवेदन है कि इस ब्लॉग को यहाँ से हटाएँ ,. कुछ सार्थक मनोरंजक लिखें तो हार्दिक स्वागत है ,..धन्यवाद

    nonvegjokes के द्वारा
    November 30, 2012

    महोदय माफी.. अगर आपको इस ब्लॉग से कोई परेशनई हुई हो तो मैं कोशिश करूंगा कुछ सार्थक मनोरंजक साम्रगी लिखने की




  • ज्यादा चर्चित
  • ज्यादा पठित
  • अधि मूल्यित